An excellent Blog on Karma and Life. #PeaceMarshall

Story of my life

Khudko pehchaniye….



*”एक कागज का टुकड़ा*

*गवर्नर के हस्ताक्षर से*

*नोट बन जाता है,*

*जिसे तोड़ने, मरोडने,*

*गंदा होने एवँ जज॔र होने से भी*

*उसकी कीमत कम नहीं होती…*

*आप भी ईश्वर के हस्ताक्षर है,*

*जब तक आप ना चाहे*

*आपकी कीमत कम* *नहीं*

*हो सकती,*

*आप अनमोल है ,*

*अपनी कीमत पहचानिये.*


– Ankur Chaudhari

View original post