Alfaz Zindagi ke #15

#PeaceMarshall

Story of my life

True lines…..





वाह रे मानव तेरा स्वभाव….

  • ।। लाश को हाथ लगाता है तो नहाता है …

पर बेजुबान जीव को मार के खाता है ।।


  • यह मंदिर-मस्ज़िद भी क्या गजब की जगह है दोस्तो.

जंहा गरीब बाहर और अमीर अंदर ‘भीख’ मांगता है..


😔विचित्र दुनिया का कठोर सत्य..👌👌


  • बारात मे दुल्हे सबसे पीछे

और दुनिया आगे चलती है,

मय्यत मे जनाजा आगे

और दुनिया पीछे चलती है..

यानि दुनिया खुशी मे आगे

और दुख मे पीछे हो जाती है..


  • मोमबत्ती जलाकर मुर्दों को याद करना

और मोमबत्ती बुझाकर जन्मदिन मनाना…


  • उम्र भर उठाया बोझ उस कील ने …

और लोग तारीफ़ तस्वीर की करते रहे .


  • पायल हज़ारो रूपये में आती है, पर पैरो में पहनी जाती है

और…..

बिंदी 1 रूपये में आती है मगर माथे पर सजाई जाती है

इसलिए कीमत मायने नहीं रखती उसका कृत्य मायने रखता हैं.


  • एक किताबघर में पड़ी गीता और कुरान आपस…

View original post 123 more words

One thought on “Alfaz Zindagi ke #15

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s